You are here: Home / Hindi Web /Topics / डांडी मार्च Important Points in Hindi

डांडी मार्च Important Points in Hindi

Filed under: History on 2022-01-14 19:34:21
12 मार्च, 1930 को गांधी जी तथा अन्य नेताओं ने डांडी की ओर प्रस्थान किया।
    
यही उनका प्रसिद्ध डांडी मार्च था। 6 अप्रैल, 1930 को गांधीजी ने स्वयं नमक कर कानून तोड़ कर नमक बनाया।
    
यह आंदोलन सगुणा देश में फैल गया।
    
सरकार ने आंदोलन को कुचलने के लिए बल प्रयोग किया।
    
इस आंदोलन में लगभग हजार सत्याग्रहियों को जेलों में लूंसा गया।
    
जनता ने भी हिंसा का आश्रय लिया, पुलिस ने 25 व्यक्तियों को गोली से मार कर इसका बदला लिया। 
    
पेशावर में तो 24 अप्रैल से4 मई, 1930 तक अंग्रेजी शासन नहीं रहा।
    
वहां सीमान्त गांधी (बादशाह खान) के खुदाई खिदमतगारों ने व्यवस्था कायम रखी।
    
बाद में सेना ने पेशयम में पहुंचकर मशीन गनों से खुदाई खिदमतगारों को भून दिया।
    
इसी समय एक गढ़वाली प्लाटून ने अपने पाय भाइयों पर गोली चलाने से इन्कार कर दिया।
About Author:
S
Shyam Dubey     View Profile
If you are good in any field. Just share your knowledge with others.
More History Topics

बिन्दुसार के बारे में विस्तृत जानकारी


सिंधु घाटी सभ्यता के बारे में


तृतीय विश्व युद्ध कब होगा


चोल साम्राज्य का इतिहास । संपूर्ण जानकारी


तृतीय आंग्ल-मराठा युद्ध (1817 ई. से 1818 ई.)


मगध पर विजय और मौर्य साम्राज्य की नींव ( 321 ई.पू.)


हड़प्पा सभ्यता की प्रमुख विशेषता और कला Key Features and Art


द्वितीय विश्वयुद्ध, कारण, परिणाम


विद्रोह की असफलता के कारण | 1857 विद्रोह के परिणाम


स्वदेशी और बहिष्कार के आंदोलनों के प्रभाव


मौर्य साम्राज्य का उत्तर पश्चिमी विस्तार


पाटलीपुत्र नगर की स्थापना किसने की थी | पटना का इतिहास


नमक आन्दोलन संछेप में


गदर पार्टी के बारे में जानें – GADAR PARTY in hindi


बंगाल में नील की खेती और विद्रोह