You are here: Home / Hindi Web /Topics / हड़प्पा सभ्यता की नगर योजना Town planning of Harappa civilization

हड़प्पा सभ्यता की नगर योजना Town planning of Harappa civilization

Filed under: History on 2021-06-06 17:01:18
हड़प्पा के लोगों का जीवन बहुत ही सुखद और शांतिपूर्ण था। हड़प्पा समुदाय ग्रामीण इलाके में रहता था। वे लोग बहुत ही अच्छे विचारों के और मददगार लोग थे, वे बिलकुल भी खतरनाक नहीं थे। जिन बड़े शहरों के घरों में लोग रहते थे, वे घर पांच फुट की लंबाई और 97 फुट की चौड़ाई के हुआ करते थे। उनके भवनों में दो कमरे वाले घर होते थे।

हड़प्पा सभ्यता के शहरों को बहुत अच्छी योजना और बड़ी खूबसूरती से बनाया गया था। सड़क के दोनों किनारों पर पंक्तियों में घर बनाए गए थे। भवन का निर्माण करने के लिए उन्होंने धूप में सूखी हुई ईंटों का प्रयोग किया था। कुछ घर गलियों में भी बनाये गये थे। अमीर लोग बड़े घरों में रहते थे, उनके पास कई कमरे वाले घर होते थे। मुख्य रूप से, गरीब लोग छोटे घरों और झोपड़ियों में रहते थे।

अनाज रखने का कोठार, जो 45.71 मीटर लंबा और 15.23 मीटर चौड़ा हुआ करता था। हड़प्पा के दुर्ग में छः कोठार मिले हैं, जो ईंटों के चबूतरे पर दो पांतों में खड़े  हैं। जनता के लिए मोहन जोदड़ो द्वारा स्नानागार की खोज की गई। यह सिंधु सभ्यता की मुख्य सुविधा में से एक थी। हड़प्पा सभ्यता के शहरों में मकान बनाने के लिए भी धूप में सूखी हुई ईंटों का इस्तेमाल किया जाता था।

शहर में मंदिर बनाने के लिए कई ईंटें और मिट्टी का इस्तेमाल होता था। जल निकासी से बचने के लिए उन्होंने जलाशय बनाये और उसमें मिट्टी का उपयोग किया। बौद्ध धर्म के लोगों के लिए स्नानागार का निर्माण किया गया था, पूजा करने वाले कपड़े बदलने के लिए छोटे कमरे इस्तेमाल करते थे तथा इसके बाद देवी की पूजा करते थे।

सिंधु घाटी सभ्यता में, जल निकासी प्रणाली बहुत व्यवस्थित क्रम में थी, हर घर में सबसे अच्छी सुविधा के लिए नाली व्यवस्था का प्रयोग किया गया था। प्रत्येक घर से पानी की निकासी का स्थान ईंटों से बनाया गया था।

घरों में पानी का उपयोग करने के बाद पानी बहकर नाली में जाता था। पानी की निकासी के लिये नालियां बनाई गई थी। नाले को बंद करने के लिए उन्होंने बड़े पत्थर का इस्तेमाल किया, जिससे हानिकारक रोगों बचा जा सके। नालियों को सड़क के भूमिगत मैदान के किनारे पर बनाया गया था। नालियों की जल निकासी सड़क के साथ जुड़ी हुई थी।
About Author:
S
Shyam Dubey     View Profile
If you are good in any field. Just share your knowledge with others.